Saturday, February 23, 2019

Travel in india Wonderful places to visit in a very cheap, march will be memorable

Travel in india Wonderful places to visit in a very cheap, march will be memorable


बेहद सस्ते में घूमें देश की शानदार जगहें, मार्च का महीना बन जाएगा यादगार
Wonderful places to visit in a very cheap, march will be memorable

Travel in india Wonderful places to visit in a very cheap, march will be memorable
Travel in india Wonderful places to visit in a very cheap, march will be memorable

अलग-अलग जगहों पर घूमने का शौक हर किसी को होता है। लेकिन कई बार कम समय और पैसे की चिंता आपकी यात्रा को कम कर देती है। आपके घूमने की इच्छाओं को पूरा करने के लिए हम महज दस हजार रुपये में कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताएंगे जहां जाकर आप अपने छुटिट्यों को यादगार बना सकते हैं।

अगर आपको वन्यजीवन और प्रकृति से लगाव है तो आपके लिए यह जगह बेहतर साबित हो सकती है। कांजीवरम राष्ट्रीय उद्यान में कई तरह के जानवर देखने को मिलते हैं। यहां लंबे सिंग वाली भैसों और गैंडों की संख्या पूरे विश्व में सबसे ज्यादा पाए जाते है। यहां पर आपको बाघों की संख्या भी ज्यादा देखने को मिलेगी।




इसके अलावा हाथियों की विशाल झुंड और भी कई जानवर देखने को मिलते हैं। यहां जाने का सबसे सही समय होता है मार्च, वसंत के मौसम में कई मनमोहक फूल खिलते हैं। बाध और चिता इस वक्त जंगल से बाहर निकलकर पानी पीने आते हैं। जिसे आप बहुत करीब से देख सकते हैं।

हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा घाटी अपनी खूबसूरत नजारे और हरियाली के लिए पूरे देश में मशहूर है।

यहां के पहाड़ों पर ज्यादातर लोग कुछ दूर पैदल चलकर यात्रा को यादगार बनाते है। पैदल चलते हुए कई जलधराए मिलती है जिसके पानी में पैर को डालों तो आपकी सारी थकान अपने आप दूर हो जाती है।




आप चाहे तो बस या कार में भी बैठकर यहां की खूबसूरत दृश्यों का दीदार कर सकते हैं। यहां घूमने के साथ योगा और मेडिटेशन सेंटर भी है जहां जाकर आप घूम सकते हैं। हर साल यहां पर लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं। यहां का शांत वातावरण आपके दिल को छू लेगा। इस जगह पर आप फैमली ट्रीप भी प्लान कर सकते हैं या फिर आप अपने दोस्तों के साथ भी घूमने जा सकते हैं।

धर्म की नगरी वाराणस में आप कभी भी और किसी भी मौसम में घूमने जा सकते हैं। यहां मौजबद असंख्य मंदिर और गंगा का किनारा आपका मनमोह लेगा। आप यहां सुबह-शाम गंगा आरती का आनंद भी उठा सकते हैं। इसके अलावा यहां खाने की कई मशहूर चीजें मिलती हैं। जो कहीं और आपको नहीं मिल पाएगा।

Friday, February 22, 2019

Breaking news कश्मीरी लड़कियां इसलिए नहीं करती दूसरे राज्य के लड़कों से शादी

Breaking news कश्मीरी लड़कियां इसलिए नहीं करती दूसरे राज्य के लड़कों से शादी

कश्मीरी लड़कियां इसलिए नहीं करती दूसरे राज्य के लड़कों से शादी, ये नियम है बड़ी वजह
 Kashmiri girls do not want to marry boys of another state
Kashmiri girls do not want to marry boys of another state
Kashmiri girls do not want to marry boys of another state

नई दिल्ली: 14 फ़रवरी को पुलवामा में भारतीय जवानों के ऊपर हुए हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में लागू धारा-370 को हटाने की मांग उठ रही है। लेकिन आप में से ज्यादातर लोग शायद ही जानते होंगे कि आखिर धारा-370 क्या है और क्यों लगातार देश में इस धारा को हटाने की मांग उठती रहती है। इस खबर में हम आपको धारा-370 से जुड़े प्रावधानों के बारे में बताने जा रहे हैं।

धारा 370 जम्मू कश्मीर को पूरे देश से अलग रखने का काम करती है, और ऐसा इस धारा के प्रावधानों की वजह से होता है। यही वजह है कि लगातार इस धारा को समाप्त करने की मांग उठती रहती है।



जानिए धारा 370 की प्रावधान
इस धारा की सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि इसमें हर जम्मू-कश्मीर में रहने वाले लोगों को दोहरी नागरिकता मिली हुई है जाबकि जम्मू-कश्मीर के अलावा भारत के किसी हिस्से में रहने वाले किसी भी नागरिक को सिर्फ एक नागरिकता मिली हुई है।
जम्मू-कश्मीर में भारत का झंडा नहीं फहराया जाता क्योंकि यहां का एक अलग झंडा हो जिसे इस इलाके में मान्यता मिली हुई है।

जम्मू कश्मीर में भारत के झंडे का अपमान किया जाता है इसके बावजूद यहां पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है क्योंकि यहां पर ऐसा करने को अपराध नहीं माना जाता है।

जम्मू कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से विवाह कर ले तो उस महिला की नागरिकता समाप्त हो जायेगी। फिर वो महिला कश्मीरी नहीं कहलाएगी।



जम्मू-कश्मीर में महिलाओं के ऊपर शरीयत कानून लागू किया जाता है जो कि अन्य राज्यों में नहीं लागू है।
जम्मू कश्मीर की कोई महिला किसी पाकिस्तानी से शादी कर ले तो उस शख्स को भी कश्मीर की नागरिकता मिल जाती है।

आपको ये बात जानकार हैरानी होगी कि भारत में बनाए जाने वाले नियम क़ानून जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं होते हैं इसी वजह से भारत की सुरक्षा पर संकट मंडराता रहता है और इसी वजह से धारा 370 को हटाने की मांग लगातार उठती रहती है।

जम्मू-कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्षों का होता है जबकी भारत के अन्य राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है ।
Breaking news भाजपा विधायक ने विवादित बयान दे दिया इंडियन आर्मी को

Breaking news भाजपा विधायक ने विवादित बयान दे दिया इंडियन आर्मी को

भाजपा विधायक का विवादित बयान, कहा- सैनिक सालभर घर नहीं आते और बच्‍चा पैदा होने पर बांटते हैं मिठाइयां

Breaking news: BJP MLA gave controversial statement to Indian Army
Breaking news: BJP MLA gave controversial statement to Indian Army
Breaking news: BJP MLA gave controversial statement to Indian Army

पूरा देश पुलवामा हमले के चलते जवानो की शहादत से गम और गुस्से में डूबा हुआ है, वंही महाराष्‍ट्र के विधायक प्रशांत परिचारक ने सैनिकों की पत्नियों के चरित्र पर मजाक उड़ाया है।

बीजेपी विधायक प्रशांत परिचारक ने सोलापुर जपद में रैली को संबोधित करते हुए कहा था, कि सैनिक को बच्‍चा होने के बाद पंजाब बॉर्डर पर मिठाइयां बांटते हैं, जबकि वो एक साल में कभी घर नहीं आते है।



भाजपा विधायक के इस बेतुका बयान के बाद देशभर में चर्चा का विषय बन गया है। वहीं बीजेपी के विधायक के  बयान पर कांग्रेस के मुख्‍य प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने पूरी तरह निंदनीय और अपमानजनक बताते हुए कहा है, कि सैनिकों का अपमान करना राष्‍ट्रद्रोह है और बीजेपी को इसपर सफाई देनी ही चाहिए।

बीजेपी एमएलसी के इसविवादित बयान पर नेशनलिस्‍ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की महिला विंग की प्रदेश अध्‍यक्ष चित्रा वाघ ने कहा,कि नेता (परिचारक) ने सेना की इज्जत से खिलवाड़ किया है, उनके खिलाफ कार्रवाई जरूर होनी चाहिए।
Breaking news मौलाना ने क्या कहा पाकिस्तान के लिए

Breaking news मौलाना ने क्या कहा पाकिस्तान के लिए

मौलाना ने क्या कहा पाकिस्तान के लिए
Breaking news Maulana said for Pakistan


यूपी में एटा ज़िले के मारहरा कस्बे में ये मदरसा है, जहां शनिवार को दर्जनों मौलवियों ने मदरसों के बच्चों के साथ जुलूस निकाला।
Breaking news Maulana said for Pakistan
Breaking news Maulana said for Pakistan

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले से हर हिन्दुस्तानी गुस्से में है, लोग जगह-जगह विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, पाकिस्तान और आतंकियों के पुतले फूंके जा रहे हैं, साथ ही पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग भी की जा रही है।

सड़कों पर उतरकर जुलूस भी निकाले जा रहे हैं, एटा स्थित मारहरा कस्बा में भी शनिवार की शाम एक जुलूस निकाला गया. हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के लिए दुआएं की गईं. खानकाह-ए- बरकातिया के मदरसे से निकले मौलवियों ने आतंकवादियों के हमले का विरोध करते हुए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए.



दरगाह शरीफ के सज्जादानशीं सैयद नजीब हैदर नूरी के नेतृत्व में मदरसा जामिया अहसनुल बरकात के सैकड़ों छात्रों व अध्यापकों द्वारा कस्बे में जुलूस निकाला गया. मदरसे के छात्र आतंकवाद मुर्दाबाद व पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे. छात्रों के हाथों में नारे लिखी तख्तियां भी थीं.

जुलूस कस्बे के कई स्थानों से होता हुआ खानकाह-ए-बरकातिया स्थित गुलशन-ए-बरकात पार्क पहुचा. जहां सैयद नजीब हैदर नूरी ने इस हमले में शहीद हुए जवानों की विधवाओं के लिए भारत सरकार से एक-एक करोड़ रुपये व परिजनों को सरकारी नौकरी देने की मांग की. साथ ही उन्होंने इस हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के परिजनों के साथ हमेशा खड़े होने का वायदा किया.



इस मौके पर मदरसे के छात्रों ने कहा कि जो भी हमारे मुल्क की तरफ नापाक निगाहों से देखेगा तो हम हिन्दुस्तानी मुसलमान उसकी ईंट से ईंट बजा देंगे. आतंकवाद के खिलाफ बोलते हुए दरगाह शरीफ के सज्ज़ादानशीं सैयद नजीब हैदर नूरी ने कहा कि हम अपनी खून की एक-एक बूंद इस मुल्क के लिए तैयार रखेंगे यह हमारा मुल्क है अपने मुल्क की हिफाजत करना हमारा फर्ज है.

वह कहते हैं, 'हम पाकिस्तान को बता देना चाहते हैं हिन्दुस्तान का मुसलमान कल भी अपने मुल्क के साथ था, आज भी अपने मुल्क के साथ है और आने वाले दिनों में भी अपने मुल्क के साथ रहेगा, अगर हमारे मुल्क की तरफ निगाह उठाकर देखी गई तो हम मुसलमान यह ताकत रखते हैं कि उसकी ईंट से ईंट बजा देंगे।



परवेज ज़ुबैरी ने कहा कि आतंकवाद किसी का मजहब नही होता, आपने देखा होगा पाकिस्तान, ईरान, ईराक में मस्जिदों में बम फोड़े जाते हैं।

आतंकवाद से मुसलमानों का सबसे ज्यादा नुक्सान हुआ है, हम लोगों को इनके खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है, हम इस संकट की घड़ी में अपने देश और भारत सरकार के साथ है।

मदरसा जामिया अहसनुल बरकात के प्रिंसिपल मौलाना इक़बाल नूरी ने कहा कि दहशतगर्दों को एक ऐसा सबक सिखाए ताकि आइंदा कोई आतंकी हमला करने की न सोचे, हमारा मुल्क अमनो अमान का मुल्क है।



उन्होंने कहा, 'हमारा मजहब इस्लाम मौहब्बत का पैगाम देता है, आतंकवाद का कोई मजहब नहीं होता,आतंकी कभी मस्जिद पर हमला करते हैं, तो कभी खानकाहों पर,हमारी सेना जब सरहदों पर अपनी नींदे कुर्बान करती हैं तब हम चैन की नींद सोते हैं, हमारा यह मुल्क एक पेड़ है और यहा रहने वाले हर मजहब के लोग उस पेड़ की शाखाएं हैं. हमे इस पेड़ की हिफाजत करनी है।

Thursday, February 21, 2019

Breaking news प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिलेगा 200,000 डॉलर का इनाम, दक्षिण कोरिया ने किया एलान

Breaking news प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिलेगा 200,000 डॉलर का इनाम, दक्षिण कोरिया ने किया एलान



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिलेगा 200,000 डॉलर का इनाम, दक्षिण कोरिया ने किया एलान


भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ख्याति विदेश में किस क़दर विश्वविख्यात है,ये किसी से छुपा नहीं है,मशहूर गायक एल्विस प्रेस्ले का मैडिसन स्क्वायर में रिकॉर्ड तोड़ने वाले नरेंद्र मोदी की ख्याति दक्षिण कोरिया में भी भारी मात्रा में है,आपको बता दें 22 फरवरी को पीएम मोदी को सियोल शान्ति पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा,इसकी घोषणा 24 अक्टूबर 2018 को हुई थी, ये पुरस्कार नरेंद्र मोदी के अंतर्राष्ट्रीय सौहार्द बनाये रखने और विश्व जगत में प्रसिद्ध उनके कौशल के लिए दिया जाएगा।
Breaking news प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिलेगा 200,000 डॉलर का इनाम, दक्षिण कोरिया ने किया एलान
Breaking news प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिलेगा 200,000 डॉलर का इनाम, दक्षिण कोरिया ने किया एलान

विश्व में शांति को बनाने के साथ-साथ भारत की अर्थव्यवस्था में अभूत पूर्व वृद्धि में नरेंद्र मोदी के योगदान के लिए दक्षिण कोरिया सरकार ने पीएम मोदी को सम्मान देने का फैसला किया है।



बताते चलें नरेंद्र मोदी 14 वें व्यक्ति हैं जिन्हे यह पुरस्कार दिया जा रहा है,अब तक पूरे विश्व में 13 लोगों को मानवता के प्रति उनकी महत्वपूर्ण भूमिकाओं के लिए सियोल शान्ति पुरस्कार दिया जा चुका है।

क्या है सियोल शांति पुरस्कार...

सियोल शांति पुरस्कार 1990 में कोरिया के सियोल में आयोजित 24 वें ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों की सफलता के उपलक्ष्य में मौद्रिक पुरस्कार के साथ एक द्विवार्षिक मान्यता के रूप में स्थापित किया गया था, जिसमें एक कार्यक्रम जिसमें दुनिया भर के 160 देशों ने हिस्सा लिया, जिससे सद्भाव और दोस्ती का निर्माण हुआ।



सियोल शांति पुरस्कार कोरियाई लोगों की इच्छाओं को प्रतिबिंबित करने और पृथ्वी पर हमेशा की शांति की उनकी इच्छा को स्फटिक बनाने के लिए स्थापित किया गया था. पुरस्कृत किया जाने वाले लोगों के नामांकित समूह में 300 कोरियाई नागरिक और 800 अंतरराष्ट्रीय व्यक्ति शामिल होते हैं।

पुरस्कार प्राप्त करने वाले को 200,000 अमेरिकी डॉलर का एक डिप्लोमा, एक पट्टिका और मानदेय दिया जाता है. आपको बता दें अब तक सियोल शांति पुरस्कार प्राप्त लोगों को नोबेल पुरस्कार के लिए भी नामांकित किया जाता है एवं कई सियोल पुरस्कार प्राप्त लोगों को उनके अच्छे कार्यों के लिए नोबेल पुरस्कार भी दिया गया है।

Breaking news बड़ी खबर: भारत ने किया पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, मचा हाहाकार

Breaking news बड़ी खबर: भारत ने किया पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, मचा हाहाकार

बड़ी खबर: भारत ने किया पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, मचा हाहाकार

बड़ी खबर: भारत ने किया पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, मचा हाहाकार
बड़ी खबर: भारत ने किया पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, मचा हाहाकार

पुलवामा हमले के बाद से ही भारत सरकार द्वारा की जा रही कार्रवाई से बौखलाए पाकिस्तान को अब पीएम मोदी ने एक और झटका दे दिया है। भारत ने इस बार बिना हथियार के ही पाकिस्तान पर 'सर्जिकल स्ट्राइक' कर दिया है। आज भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान जाने वाले अपने हिस्से का पानी रोक दिया है।




केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़कारी ने एक ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी दी कि, हमारी सरकार ने यह फैसला लिया है कि अब हम भारत से होकर पाकिस्तान जाने वाले पानी को रोकेंगे और अपनी पूर्वी नदियों का दिशा बदलकर इसे जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान में अपने लोगों के लिए भेजेंगे।

इसके अलावा नितिन गड़कारी ने बताया कि, भारत से पाकिस्तान के अलग होने पर 3 नदियां पाकिस्तान को मिली थी और 3 भारत को। हमारी नदियों का अधिकतर पानी पाकिस्तान में ही जा रहा था, अब इसकी दिशा को मोड़कर इसे पंजाब और जम्मू-कश्मीर में भेजा जाएगा। भारत के इस फैसले से अब निश्चित ही पाकिस्तान की कमर टूट जाएगी और वे बूंद-बूंद पानी के लिए तरसेंगे।




पुलवामा हमले के बाद से ही भारत लगातार पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठा रहा है। सबसे पहले भारत ने जम्मू-कश्मीर से आतंकियों को उखाड़ फेकने के लिए सेना को खुली छूट दे दी उसके बाद पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया फिर पाकिस्तान से आने वाले सामानों पर सीमा शुल्क बढ़ाकर 200 फीसदी कर दिया, जिससे पाकिस्तान को भारत में सामानों का निर्यात करना महंगा हो गया। माना जा रहा है कि भारत के इस सर्जिकल स्ट्राइक से अब पाकिस्तान की कमर पूरी तरह से टूटना तय है।
Breking news इतने रुपए में खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, पढ़कर चौंक जाएंगे आप

Breking news इतने रुपए में खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, पढ़कर चौंक जाएंगे आप

इतने रुपए में खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, पढ़कर चौंक जाएंगे आप

स्विट्ज़र‌लैंड‌ की प्राकृतिक सुंदरता के कारण इसे धरती का स्वर्ग कहा जाता है. वहीं, दुनिया भर के ब्लैक मनी होल्डर्स के लिए यहां के बैंक भी किसी स्वर्ग से कम नहीं है. वर्तमान में स्विस बैंक में भारतीयों का 7000 करोड़ रुपए जमा है. एक वक्त ऐसा भी था जब इन बैंकों में 41400 करोड़ के रिकॉर्ड स्तर पर भारतीय धन जमा था.
इतने रुपए में खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, पढ़कर चौंक जाएंगे आप
इतने रुपए में खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, पढ़कर चौंक जाएंगे आप




स्विट्ज़र‌लैंड‌ में करीब 400 बैंक है. जिनमें यूबीएस और क्रेडिट सुइस ग्रुप सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं. यहां के सभी बैंक गोपनीयता की धारा 47 के तहत अपने खाताधारकों की जानकारी पूरी तरह गोपनीय रखते हैं. यही कारण है कि दुनिया भर के लोग अपना काला धन छुपाने के लिए इधर का रुख करते हैं.

सुरक्षा के मापदंडों के आधार पर यहाँ अलग-अलग तरह के एकाउंट खोले जाते हैं. स्विस बैंक में खाता खोलने के लिए आपके पास न्यूनतम राशि 100000 स्विस फ्रैंक यानी कि करीब 70 लाख 88 हजार भारतीय रुपए होने चाहिए.