breaking news ऑटो ड्राइवर ने मंगलवार को वायु सेना की इस कार्रवाई के बाद फ्री में यात्रा कराई

breaking news ऑटो ड्राइवर ने मंगलवार को वायु सेना की इस कार्रवाई के बाद फ्री में यात्रा कराई

पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक से देशभर में खुशी का माहौल है 


और लोग इसके पुलवामा हमले के बदले के रूप में देख रहे हैं. देश के अलग-अलग हिस्सों में भारत की इस कार्रवाई के बाद जश्न मनाया गया और सभी ने अपने अंदाज में भारतीय सेना के शौर्य के सलाम किया. इस बीच दिल्ली के एक ऑटो ड्राइवर ने सेना की सफलता का जश्न अनोखे तरीके से मनाया।
breaking news ऑटो ड्राइवर ने मंगलवार को वायु सेना की इस कार्रवाई के बाद फ्री में यात्रा कराई
breaking news ऑटो ड्राइवर ने मंगलवार को वायु सेना की इस कार्रवाई के बाद फ्री में यात्रा कराई

दिल्ली के ऑटो ड्राइवर मनोज ने 

दिल्ली के ऑटो ड्राइवर मनोज ने मंगलवार को वायु सेना की इस कार्रवाई के बाद फ्री में यात्रा कराई. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में मनोज ने कहा, 'मैं ज्यादा कुछ नहीं कर सकता, लेकिन यात्रा फ्री में करा रहा हूं. आज मैं खुश हूं और किसी से एक भी पैसा नहीं ले रहा.' मनोज ने बाकायदा अपने ऑटो में फ्री राइड कराने के बारे में एक पोस्टर चिपकाकर इसकी जानकारी भी दी।




 न्होंने अपने ऑटो पर एक मैसेज लिखा

उन्होंने अपने ऑटो पर एक मैसेज लिखा, 'पुलवामा हमले का बदला लेने की खुशी में आज इस ऑटो में फ्री सेवा, शहीदों को नमन, सेना को प्रणाम, मोदी जी के धन्यवाद'. देशभर में मनोज जैसे लाखों लोगों ने मिठाई बांटकर और ढोल की थाप पर डांस करते हुए भारतीय वायुसेना के इस सफल ऑपरेशन पर अपनी खुशी जाहिर की।

भारत की इस कार्रवाई से

भारत की इस कार्रवाई से न सिर्फ आमजन बल्कि तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी सेना के शौर्य और साहस की खुले दिन से तारीफ की है. सेना की कार्रवाई के बाद बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विभिन्न दलों के नेताओं ने एक सुर में इस कदम के लिए सेना को सलाम किया और सरकार के साथ खड़े होने की बात कही।




भारत ने क्या किया


मंगलवार को विदेश सचिव विजय गोखले की ओर से कहा गया कि 20 साल से जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान से आतंकी साजिश रच रहा था और आतंकी संगठनों पर आजतक कोई कार्रवाई नहीं की गई थी. साथ ही उन्होंने कहा कि 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश ने पुलवामा में आतंकी हमला किया था, जिसमें हमारे 40 जवान शहीद हुए थे।

Post a Comment

0 Comments