breaking news The surgical strike that started on Pakistan, the Modi government gave the big blow.

breaking news The surgical strike that started on Pakistan, the Modi government gave the big blow.

This news in english scroll down

breaking news

पाकिस्तान पर शुरू हुई सर्जिकल स्ट्राइक, मोदी सरकार ने दिया ये बड़ा झटका।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने आर्थिक रूप से दिवालिया होने की कगार पर खड़े पाकिस्तान पर इकोनॉमिकल सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया है. पुलवामा आतंकी हमले के बाद पहले भारत ने पाकिस्तान से एमएफएन का दर्जा छीना. अब पाकिस्तान से होने वाले आयात पर बेसिक कस्टम ड्यूटी 200 फीसदी बढ़ा दी है।
breaking news The surgical strike that started on Pakistan, the Modi government gave the big blow.
breaking news The surgical strike that started on Pakistan, the Modi government gave the big blow.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान को भारत ने दूसरा बड़ा झटका दिया है। पहले मोस्ट फेवरेट नेशन (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने के बाद अब पाकिस्तान से भारत को निर्यात किए जाने वाले सामानों पर बेसिक कस्टम ड्यूटी को 200 फीसदी तक बढ़ा दी गई है। इसका ऐलान खुद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने किया। भारत के इस ऐतिहासिक फैसले से पाकिस्तान द्वारा भारत को निर्यात किए जाने वाले 48.8 करोड़ डॉलर के सामान पर असर पड़ सकता है। भारत ने पाकिस्तान से 2017-18 में 48.8 करोड़ डॉलर का आयात किया था, जबकि 1.92 अरब डॉलर का निर्यात किया था। पाकिस्तान को आर्थिक रूप से पंगु बना कर भारत एक कड़ा संदेश देने के मूड में है। पीएम नरेंद्र मोदी ने साफ कह दिया है कि ये गलती बहुत बड़ी है। इसके परिणाम भी भयंकर होंगे। पाकिस्तान की चौपट अर्थव्यवस्था अगर चरमराई तो फिर उसके साथी ही उससे हाथ खींच लेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कड़ा रुख अपनाने के बाद आतंक के पनाहगार बने देश पाकिस्तान पर कार्रवाई का दौर शुरू हो गया है। पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को तत्काल देश में ही रहने का निर्देश दिया गया है। विदेश मंत्रालय के स्तर शनिवार को भारतीय उच्चायुक्त के साथ वार्ता भी हुई है। वार्ता के बाद अजय बिसारिया ने कहा कि अभी मैं कुछ दिनों तक भारत में ही रहूंगा। मतलब साफ है भारत, पाकिस्तान पर भी कई प्रकार के सेक्शन लगा सकता है। इसके लिए भारत सरकार वैश्विक बिरादरी के साथ सामंजस्य बिठाने में जुट गया है। अगर ऐसा हुआ तो पाकिस्तान को आईएमएफ से लोन लेने में भी मुश्किल हो जाएगी, जिसके लिए इमरान खान का लगातार प्रयासरत हैं। यह पाकिस्तान की सरकार को दिवालिया होने से रोक नहीं पाएगी।

भारत व पाकिस्तान के बीच 2016-17 में 2.27 अरब डॉलर का व्यापार हुआ था। भारत, पाकिस्‍तान को टमाटर, गोबी, चीनी, चाय, ऑयल केक, पेट्रोलियम ऑयल, कॉटन, टायर, रबड़ समेत 137 वस्‍तुओं का प्रमुख रूप से निर्यात करता है। इसे अटारी-बाघा बॉर्डर के जरिए पाकिस्तान को निर्यात की जाती है। वहीं, भारत पड़ोसी देश पाकिस्‍तान से अमरूद, आम, अनानास, फ्रेबिक कॉटन, साइक्लिक हाइड्रोकॉर्बन, पेट्रोलियम गैस, पोर्टलैंड सीमेंट, कॉपर वेस्‍ट और स्‍क्रैप, कॉटन यॉर्न जैसे 264 प्रमुख उत्‍पादों का आयात करता है। इसे पाकिस्तान उरी, पुंछ और मुज्जफराबाद तीन रास्तों से भारत से आयात करता है। कारोबार रुकने का बड़ा नुकसान पाकिस्तान को होगा, क्योंकि उसके समान की बिक्री के लिए दूसरा कोई बाजार आसानी से मिलना मुश्किल है। उसका साथी देश भी उसकी मदद केवल इस कारण करता है कि वह उसके उत्पादों का एक बड़ा मार्केट है। अपने मार्केट में वह आसानी से पाकिस्तान को घुसने नहीं देगा।

Read in english

Breaking news

The surgical strike that started on Pakistan, the Modi government gave the big blow.

The Narendra Modi government of the Center has made an economic surgical strike on Pakistan, standing on the verge of being financially bankrupt. India, after the Pulwama terror attack, had the status of MFN to Pakistan. Now the basic custom duty on imports from Pakistan has increased by 200 per cent.

India has given second blow to Pakistan after the Pulwama terror attack. After withdrawing the status of the Most Favorite Nation (MFN), the basic custom duty on Pakistan's exports to Pakistan has now been increased to 200 per cent. It was announced by Union Minister Arun Jaitley himself. This historic decision of India can have an impact on goods worth $ 488 million exported to India by Pakistan. India imports $ 488 million from Pakistan in 2017-18, while exported $ 1.92 billion. By making Pakistan economically paralyzed, India is in a mood to give a strong message. PM Narendra Modi has clearly said that this mistake is very big. The consequences are too fierce. If the economy of Pakistan's four-dimensional economy is overwhelming, then its partners will pull it away.

After adopting a strong stand of Prime Minister Narendra Modi, a period of action has begun on the country's terror shelter Pakistan. Indian High Commissioner Ajay Bisaria in Pakistan has been instructed to stay immediately in the country. The level of Foreign Ministry has also been discussed with the Indian High Commissioner on Saturday. After the talks, Ajay Bisaria said that I will be in India for a few days now. It is clear that India can also have several types of sections on Pakistan. For this, the Government of India has been engaged in coordination with the global community. If that happens then Pakistan will also be able to get a loan from the IMF, for which Imran Khan is constantly in the process. This will not prevent Pakistan's government from being bankrupt.

The trade between India and Pakistan was $ 2.27 billion in 2016-17. India mainly exports 137 items, including tomatoes, gobi, sugar, tea, oil cake, petroleum oils, cotton, tires and rubber. It is exported to Pakistan through Attari-Bagha border. At the same time, India imports 264 major products such as guava, mangoes, pineapple, fiberic cotton, cyclic hydrocarbon, petroleum gas, portland cement, copper waste and scrap, cotton yarn from neighboring Pakistan. It imports from India with three routes from Pakistan Uri, Poonch and Muzaffarabad. Pakistan will have big losses to stop the business, because it is difficult to find any other market easily for sale of its kind. Her companions also help her only because she is a big market for her products. He will not easily allow Pakistan to enter his market.

Post a Comment

0 Comments