Murtaza Ali offered to pay Rs 110 crore to martyrs' families, PMO gave these answers

breaking news मुर्तजा अली ने की शहीद परिवारों को 110 करोड़ रु देने की पेशकश, PMO ने दिया ये जवाब

राजस्थान के कोटा जिले के साईन्टिस्ट मुर्तजा अली ने पुलवामा ह’मले में शहीद हुए परिवार वालों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय कोष में 110 करोड़ रुपये सहायता राशि देने की पेशकश की है . बता दे , अली मुंबई में बतौर साईन्टिस्ट कार्य कर रहे है. अली ने शहीग परिवारों को मदद करने के लिए पीएमओ में मेल करके पीणएम मोदी से मिलने का समय मांगा है .पीएमओ की तरफ से उन्हें जवाब मिला है और उन्हें 2-3 दिनों में मिटींग फिक्स करने का जवाब भेजा है। 

मुर्तजा पूरी राशि टैक्सटेबल आय से देगें. एक न्युज चैनल से बातचीत के दौरान मुर्तजा ने कहा कि पुलवामा ह’मला काफी बड़ी घटना है और इसमें देश ने 40 से अधिक जवान खोए है. मैं सेना के परिवारजनों की मदद करना चाहता हूँ . इसलिए में ये रााशि राष्ट्रीय राहत कोष में देने का मानस बनाया है. उन्होनें आगे कहा कि 25 फरवरी को पीएमओ को मेल भेजकर पीएम मोदी से मिटींग के लिए समय मांगा था। 

इसके जवाब में फंड के डिप्टी सेक्रेटरी अग्नि कुमार दास ने कागजी कार्यवाही के लिए मुर्तजा से प्रोफइल मांगी थी. जानकारी के अनुसार उन्होने पीएमओ को प्रोफाइल पैन कार्ड सहित बाकी सभी डिटेल पीएमओ को भेज दी है. इसके बाद 1 मार्च को मुर्तजा को पीएमओ से जवाब मिल गया है जिसमें उन्होनें 2-3 दिन में दिन और समय बताने की बात कही है. मुर्तजा ने बताया कि वो पीएम से मिलकर उन्हें 110 करोड़ का चेक सौपेंगे . इसके साथ ही वो सामाजिक कार्यों के लिए कई योजनाओं और टेकनो्लॉजी के बारे में भी बात करेगें। 

मुर्तजा ने कहा कि उन्होनें 110 करोड़ रुपये देने की पूरी कागजी कार्यवाही कर रखि है. पीएमओ के निर्देश के अनुसार वो राशि चेक या डीडी से भुगतान कर देगें. मुर्तजा अभी पीएमओ के ईमेल का इन्तजार कर रहे है. बता दे , मुर्तजा राजस्थान के कोटा जिले से है . उन्होनें कोटा कॉमर्स कॉलेज से ग्रेजुएशन किया है. वह जन्म से नेत्रहीन हैं. उनका पुश्तैनी बिजनेस ऑटोमोबाईल था. उन्होनें फ्यूल बर्न रेडियेशन टेक्नोलॉजी ईजाद किया है. इस टेक्नोलॉजी के जरीए जीपीएस , कैमरा या अन्य किसी भी उपकरण के बगैर किसी भी वाहन को ट्रेस किया जा सकता है।